जानिये अंतिम संस्कार का रहस्य सिर्फ हिन्दू धर्म

दोस्तों हम सब अपने अपने धर्मों में आस्था रखते है जो की काफी अच्छी बात है। हमारे धर्मों में अनेक छोटी बड़ी बातें होती है जो हमारे जीवन से जुडी होती है या फिर आप कह सकते है की इन बातों का हमारे जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ता है। कई ऐसी धार्मिक क्रियाएं होती है जिन्हे आप देखते सुनते आ रहे है लेकिन हमे उनका सही अर्थ नहीं पता होता। आज हम आपको अंतिम संस्कार के बारे में कुछ ऐसे तथ्य बता रहे है जो शायद आप भी नहीं जानते होंगे।

हिन्दू धर्म में अंतिम संस्कार के दौरान क्यों जलाए जाते है शव 

आज हम आपको बता रहें है अंतिम संस्कार के बारे में। दुनिया में केवल हिन्दू धर्म ही ऐसा है जिसमे मृत्यु के पश्चात शव को जलाने की क्रिया की जाती है जिसे अंतिम संस्कार कहा जाता है। इसके नाम में ही इसका रहस्य छुपा है।

अंतिम संस्कार का अर्थ है इंसान का आखिरी संस्कार। संस्कार का तात्पर्य हिन्दुओं द्वारा जीवन के विभिन्न चरणों में किये जानेवाले धार्मिक कर्मकांड से है। यह हिंदू मान्यता के अनुसार सोलह संस्कारों में से एक संस्कार है। हिन्दू धर्म में व्यक्ति के जन्म से मृत्यु तक सलाह संस्कार बताये गए है ।

इनमे सोलहवा और आखिरी संस्कार है अंतिम संस्कार । इस संस्कार में व्यक्ति की अंतिम विदाई , दाह-कर्म से लेकर पुन: घर की शुद्धि तक किये जाने वाली क्रिया कलाप शामिल किये जाते है।

गरुड़ पुराण में अंतिम संस्कार से संभंधित कई बाते बताई गयी है। जिनका पालन करने पर म्रत व्यक्ति की आत्मा को शान्ति मिलती है तथा उसके अगले जीवन में प्रवेश का रास्ता खुल जाता है आदि ।

अगर साधारण शब्दों में कहे तो हिन्दुओ में शव जलने से म्रत व्यक्ति की आत्मा को शान्ति मिल जाती है और उसके सभी पाप उस अग्नि में जलकर ही नष्ट हो जाते है ।

इसी तरह अन्य कई रहस्य है जिनके बारे में हम आपको बताते रहेंगे ,. तो जुड़े रहिये हमारे साथ और अनोखी और रोचक ख़बरों के लिए। https://www.hindi.flexiprices.com/

https://www.flexistamps.com/

https://www.flexipipe.in

Advertisements